Right click unusable

कर चले हम फ़िदा सरलार्थ सहित

Kar chale ham fida with meaning 
- कैफ़ी आज़मी 


जाँच
ONLINE TEST
अन्य सामग्री

कर चले हम   फ़िदा जानो-तन साथियों (फ़िदा - न्यौछावर)
अब   तुम्हारे  हवाले  वतन   साथियों (हवाले - सुपुर्दसौंपना )
साँस  थमती गई,   नब्ज़   जमती गई (साँस थमना- मृत्यु की ओर जाना; नब्ज़ जमना- नाड़ी रूकना)
फिर भी बढ़ते कदम को  रुकने दिया 
कट गए सर हमारे तो कुछ  गम नहीं (गम - दुःख)
सर हिमालय का हमने न झुकने दिया

मरते-मरते   रहा   बाँकपन   साथियों (बाँकपन - गर्व से पूर्ण)
अब  तुम्हारे  हवाले  वतन    साथियों

ज़िंदा  रहने के मौसम बहुत  हैं  मगर 
जान  देने  की  रुत  रोज़ आती  नहीं (रुत - ऋतु)
हुस्न  और इश्क  दोनों को रुस्वा  करे (हुस्न और इश्क - सुंदरता और प्रेम ; रुस्वा-बदनाम)
वो जवानी  जो खूँ  में   नहाती  नहीं

आज  धरती बनी  है दुलहन  साथियों
अब  तुम्हारे  हवाले  वतन  साथियों 

राह   कुर्बानियों  की    वीरान  हो (कुर्बानी- बलिदानवीरान- खाली)
तुम  सजाते  ही  रहना  नए काफ़िले (काफ़िले - लोगों के समूह) 
फ़तह का जश्न इस जश्न के  बाद है (फ़तह- जीत; जश्न - उत्सव)
ज़िंदगी मौत  से  मिल  रही  है गले

बाँध लो अपने  सर से कफ़न साथियों (मृत्यु के लिए तैयार हो जाओ )
अब  तुम्हारे  हवाले   वतन  साथियों


खींच दो अपने खूँ से ज़मीं पर लकीर (लकीर- रेखा)
इस  तरफ़ आने पाए  रावन  कोई (रावन - मातृभूमि के प्रति दुर्भावना रखनेवाला शत्रु )
तोड़ दो हाथ अगर हाथ  उठने  लगे
छू   पाए  सीता  का  दामन कोई  (सीता का दामन- मातृभूमि और इसकी स्त्रियों का आँचल)
राम भी तुम,  तुम्हीं लक्ष्मण  साथियों
अब  तुम्हारे  हवाले  वतन  साथियों

*********
द्वारा :- www.hindiCBSE.com
आभार: एनसीइआरटी (NCERT) Sparsh Part-2 for Class 10 CBSE

कोई टिप्पणी नहीं: