Right click unusable

श , ष, स का अंतर व प्रयोग

श , ष, स का अंतर व प्रयोग

1.    श का उच्चारण मुख में तालु (तालव्य) से किया जाता है। यह वह स्थान है जहाँ से च छ ज झ का उच्चारण होता है।

2.    का उच्चारण तालु के मूर्धा (मूर्धन्य) भाग से होता है। जब हम ट ठ ड ढ का उच्चारण करते हैं उसी स्थान में और दंत की ओर जिह्वा को ले जाने पर इसका उच्चारण होता है।

3.    का उच्चारण दंतमूल (वर्त्स्य ) से होता है। र ल का उच्चारण जिस स्थान से करते हैं उसी के पास से इसका उच्चारण होता है।