Sample Paper Hindi 9 class sa-1 namuna- 3

नमूना प्रश्नपत्र -3  
ladfyr ijh{kk & 1  
 Class -IX 
HINDI (Course B)
हिन्दी
(पाठ्यक्रम )
निधारित समय : 3 घटे                                                                                                    अधिकतम  अंक  : 90
 निर्देश :
(i) इस प्रश्न-पत्र के चार खंड हैं - , , और घ।
(ii) चारों खंडों के प्रश्नों के उत्तर देना अनिवार्य है।
(iii) यथासंभव प्रत्येक खंड के उत्तर क्रमानुसार दीजिए।

खड-''

1. निम्नलिखित अपठित गद्यांश के आधार पर प्रश्नों के सही विकल्प चुनकर लिखिए :                                                 5
संसार में अमरता ऐसे ही लोगों को मिलती है जो अपने पीछे कुछ आदर्श छोड़ जाते हैं। बहुधा देखा गया है कि ऐसे व्यक्ति सम्पन्न परिवार में बहुत कम पैदा होते हैं। अधिकांश ऐसे लोगों का जन्म मध्यम वर्ग के घरों में या गरीब परिवारों में ही होता है। इस तरह उनका पालन-पोषण साधारण परिवार में होता है और वे सादा जीवन बिताने के आदी हो जाते हैं।
मनुष्य में विनय, उदारता, सहिष्णुता और साहस आदि चारित्रिक गुणों का विकास अत्यावश्यक है। इन गुणों का प्रभाव उसके जीवन पर पड़ता है। ये गुण व्यक्ति के जीवन को अहंकारहीन और सरल बनाते हैं। सादगी का विचारों से घनिष्ठ सम्बन्ध है। सादा जीवन व्यतीत करना चाहिए और अपने विचारों को उच्च बनाए रखना चाहिए।
व्यक्ति की सच्ची पहचान उसकें विचारों और करनी से होती है। मनुष्य के विचार उसके आचरण पर प्रभाव डालते हैं और उसके विवेक की जाग्रत रखते हैं। विवेकशील व्यक्ति ही अपनी आवश्यकताओं को सीमित रखता है। उन्हें अपने ऊपर हावी नहीं होने देता। सादा जीवन व्यतीत करने वाले व्यक्ति को कभी हतप्रभ होकर अपने आत्मसम्मान पर आँच नहीं आने देनी चाहिए। सादगी मनुष्य के चरित्र का अंग है, वह बाहरी चीज नहीं है। महात्मा गाँधी सादा जीवन पसन्द करते थे और हाथ के कते और बुने खद्दर के मामूली वस्त्र पहनते थे, किन्तु अपने उच्च विचारों के कारण वे संसार में वंदनीय हो गए।

() विवेकशील व्यक्ति की प्रमुख पहचान है :
(i) उनका जीवन अहंकारहीन और सरल होता है।
(ii) बहुत सोचने के बाद निर्णय लेता है।
(iii) मौके का फायदा उठाता है।
(iv) समय की बचत करता है।
() व्यक्ति की सच्ची पहचान होती है :
(i) रोज़गार से
(ii) परिवार से
(iii) वस्त्रों से
(iv) कर्मों से

() अमरता कैसे लोगों को मिलती है?
(i) जो कभी नहीं मरते।
(ii) जो पुन: मानव रूप में जन्म नहीं लेते।
(iii) जो आदर्शवादी होते है।
(iv) जो सेना में होते है।
() गाँधीजी संसार में इसलिए वंदनीय हो गए क्योंकि :
(i) वे अहिंसा के पुजारी थे।
(ii) वे महात्मा के रूप में विख्यात थे।
(iii) वे उच्च विचारक थे।
(iv) वे खादी के वस्त्र पहनते थे।

(.) उपर्युक्त गद्यांश का उचित शीर्षक हो सकता है :
(i) मनुष्य के विचार
(ii) महात्मा गाँधी
(iii) अहंकारहीन जीवन
(iv) आत्म सम्मान

2. निम्नलिखित अपठित गद्यांश के आधार पर प्रश्नों के सही विकल्प चुनकर लिखिए :                                     5
प्रत्येक राष्ट्र के जीवन निर्वाह के लिए यह आवश्यक है कि देश की प्राकृतिक सम्पत्ति की रक्षा की जाए। देश की कृषि, देश की खानों की पैदावार तथा देश की दस्तकारी की रक्षा किए बिना, उनकी उन्नति किए बिना किसी भी देश के बच्चों का पालन करना सर्वथा कठिन है। हमें यह स्मरण रखना चाहिए कि राष्ट्रीय उन्नति के लिए देश की प्राकृतिक सम्पत्ति को बढ़ाने की अपेक्षा देश की मानसिक और नैतिक सम्पत्ति को बढ़ाना अधिक आवश्यक है। जो राष्ट्र अपनी नैतिक सम्पत्ति की उचित रक्षा करता है, केवल वही राष्ट्र सम्मान, उत्साह और स्वतंत्रता के साथ इस संसार में जीवित रह सकता है। राष्ट्र के बालक बालिकाएँ राष्ट्र की मानसिक और नैतिक सम्पति हैं। जो देश इस धन की उचित रक्षा नहीं करता वह उन्नति के पथ से हटकर अवनति के गर्त में चला जाता है। उपर्युक्त सम्पतियों की रक्षा तभी ठीक-ठीक हो सकती है जब हम अपने कर्तव्यों तथा अधिकारों को समझकर कर्तव्यों को पूरा करने और अधिकारों को प्राप्त करने के लिए  कटिबद्ध हों। वस्तुत: किसी देश की प्राकृतिक सम्पत्ति की रक्षा तथा वृद्धि भी उस देश की नैतिक सम्पत्ति की रक्षा और वृद्धि पर ही निर्भर है।

() राष्ट्र की उन्नति के लिए लेखक ने क्या आवश्यक माना है?
(i) देश की कृषि।
(ii) देश की दस्तकारी।
(iii) देश की मानसिक और नैतिक सम्पति को बढ़ाना।
(iv) देश की प्राकृतिक सम्पति को बढ़ाना।
() प्रत्येक राष्ट्र के जीवन निर्वाह के लिए क्या आवश्यक है?
(i) शिक्षा की उचित व्यवस्था
(ii) देशभक्ति की भावना
(iii) प्राकृतिक सम्पत्ति की रक्षा
(iv) देश की सीमाओं की रक्षा

() राष्ट्र की मानसिक और नैतिक सम्पत्ति कौन है?
(i) राष्टे के लोगों की बौद्धिक क्षमता।
(ii) राष्ट्र के लोगों की सोच।
(iii) राष्ट्र के लोगों का पैसा कमाने का तरीका।
(iv) राष्ट्र के बालक और बालिकाएँ।

() उपर्युक्त संपत्तियों की रक्षा कब हो सकती है?
(i) जब हमें अपने अधिकारों का ज्ञान हो।
(ii) जब हम अपने कर्तव्यों के पालन में सचेत हों।
(iii) जब हमें अपने अधिकारों और कर्तव्यों का ज्ञान हो।
(iv)  जब हम अपने कर्तव्यों को पूरा करने और अधिकारों को प्राप्त करने के लिए कटिबद्ध हो।

(.) राष्ट्र कब अवनति के गर्त में चला जाता है?
(i) जो राष्ट्र प्राकृतिक संसाधनों की रक्षा नहीं कर पाता।
(ii) जो राष्ट्र की मानसिक और नैतिक सम्पति की उचित रक्षा नहीं करता।
(iii) जो राष्ट्र अपने सीमाओं की रक्षा नहीं करता।
(iv) जो राष्ट्र अपने दुष्काल के विषय में नहीं सोचता।

3. निम्नलिखित अपठित पद्यांश के आधार पर प्रश्नों के उत्तर सही विकल्प चुनकर लिखिए :                            5

आज की यह सुबह है बहुत प्रीतिकर,
कह रही उठ नया काम कर, नाम कर।
जो अघूरी रही वह सुबह कल गई,
मान ले अब यहीं कुछ कमी रह गई,
ले नई ताज़गी यह सुबह गई,
कह रही-मीत उठ, बात कर कुछ नई,
ओो सृजन-दूत तू, शक्ति सागर तू
क्यों खड़ा रहा राह में अश्व यों थाम कर।
दूसरों की बनाई डगर छोड़ दे,
तू नई राह पर कारवाँ मोड़ दे,
फोड़ दे तू शिलाएँ चुनौती भरी
क्रूर अवरोध को निष्करूण तोड़ दे,
व्यर्थ जाने पाए महापर्व यह-
जो स्वयं गया आज तेरी डगर।

() आज की सुबह क्या पैगाम दे रही है?
(i) नया काम सोचने तथा करने का पैगाम।
(ii) किसी को नया काम देने का पैगाम।
(iii) कुछ नया करने का पैगाम।
(iv) ऐसा नया काम करने का पैगाम जिससे नाम हो।

() ताज़गी भरी सुबह मानव से क्या कह रही है?
(i) अधूरी सुबह चली गई।
(ii) जो अधूरी सुबह थी वह कल की थी।
(iii) नई सुबह में कुछ नई बात करो।
(iv) अपनी कमियों को दूर करो।

() कवि किस चुनौती को स्वीकार करने की बात कर रहा है?
(i) दूसरों की दिखाई नई राह को अपनाने की।
(ii) दूसरों की दिखाई मंजिल पर आगे बढ़ने की।
(iii) दूसरों की बनाई मंजिल को त्यागकर नई डगर का निर्माण करना।
(iv) दूसरों की बनाई मंजिल पर आगे बढ़ने की।


() कवि मानव को किन विशेषणों से अलंकृत कर रहा है?
(i) सृजन का दूत तथा शक्ति का भंडार।
(ii) सृजन का कर्ता तथा शक्ति का उपासक।
(iii) सृजन का देवता तथा शक्ति का अवतार।
(iv) सृजन का संहारक तथा शक्ति का देवता।

(.)  'महापर्व' से कवि का क्या तात्पर्य है?
(i) श्रेष्ठ उद्देश्य
(ii) चुनौती भरे मार्ग पर आगे बढ़ने का अवसर
(iii) सभी त्योहारों में श्रेष्ठ त्योहार
(iv)  बहुत बड़ा पर्व

4. निम्नलिखित अपठित पद्यांश के आधार पर प्रश्नों के उत्तर सही विकल्प चुनकर लिखिए :                            5

हर किरण तेरी संदेश वाहिका
पवन, गीत तेरे गाता
तेरे चरणों को छूने को
लालायित हिमगिरि का माथा।
तुझसे ही सूर्य प्रकाशित है
आलोक सृष्टि में तेरा है,
संपूर्ण सृष्टि का रोम-रोम
चिर ऋणी उपासक तेरा है!
अगणित आकाश गंगाएँ
तू आदि अंत से मुक्त
काल अस्तित्व हीन तेरे आगे !
हे जगत् नियंता, जगत-पिता
है व्यापक तेरा कितना ईश्वर
तेरे चरणों में नतमस्तक
कितनी धरती, कितने अंबर।

() ईश्वर के चरण चुमने के लिए कौन लालायित रहता है?
(i) पहाड़                        (ii) नदियाँ                     (iii) दरिया                    (iv) हिमगिरि

() तू किससे मुक्त है?
(i) आकाश गंगा             (ii) अस्तित्व से             (iii) नन्हीं बूंद                (iv) आदि -अंत

() किसका रोम-रोम तेरा चिर ऋणी है?
(i) कम सृष्टि                            (ii) बड़ी सृष्टि                (iii) संपूर्ण सृष्टि            (iv) छोटी सृष्टि

()   ईश्वर के चरणों में कौन नतमस्तक है?    
(i) ईश्वर के चरणों में धरती और अंबर नतमस्तक हैं।
(ii) ईश्वर के चरणों में धरती और आग नतमस्तक है।
(iii) ईश्वर के चरणों में आग और हवा नतमस्तक है।
(iv) ईश्वर के चरणों में अंबर और हवा नतमस्तक है।

(ड.)  जगत-पिता किसे कहा गया है?
(i) संसार                       (ii)  ईश्वर                    (iii) आकाश                  (iv) समाज

खण्ड (व्यावहारिक व्याकरण)

5. ()  निम्नलिखित शब्दों का वर्ण-विच्छेद कीजिए :                                                                            2
             त्रिकाल,  फूल
  ()  दुर्गध- में उचित स्थान पर अनुस्वार लगाकर मानक रूप लिखिए।                         1
  ()   कुआ - में उचित स्थान पर अनुनासिक चिहन का प्रयोग कर शब्द को दोबारा लिखिए।                   1    
  ()  रोजाना - में उचित स्थान पर नुक्ते का प्रयोग कीजिए।                                 1

6. ()   निम्नलिखित शब्दों में संधि कीजिए :                                                                                        2
            हर +एक,   तथा + एव
   ()  निम्नलिखित शब्दों का संधिविच्छेद कीजिए :                                                                             2
            महेश, प्रत्येक
7. ()  निम्नलिखित शब्दों में प्रयुक्त उपसर्गों और मूल शब्दों को अलग-अलग करके लिखिए :              2
           असंभव,   पराधीन
   ()  निम्नलिखित शब्द में से मूल शब्द और प्रयुक्त प्रत्यय को अलग-अलग कीजिए :             1
             सजावट
  ()  निम्नलिखित वाक्यों में उचित स्थान पर विराम-चिन्ह लगाकर लिखिए :                                       3
       (1) क्यों यहाँ रहने में क्या बुराई है
      (2)  सरकार गरीबों को रोटी कपड़ा मकान नौकरी आदि सब  सुविधा देती है
      (3) तभी बच्चा चिल्लाया नहीं मैं नहीं जाऊँगा
खण्ड (पाठ्य-पुस्तक)
9. पठित पाठों के आधार पर निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर लिखिए।                                            (1+2+2)
()  'तुम कब जाओगे, अतिथि' में मनुष्य की किस कमज़ोरी को बताया गया  है?
()  'दुख का अधिकार' कहानी में बुढ़िया और संभ्रान्त महिला  में से आपको किस का दुख बड़ा  लगा और क्यों?
()    'तुम कब जाओगे, अतिथि' में अतिथि के जाने पर  लेखक उसे क्या खिलाने और कहने के लिए सोचता है?

10.  धूल से लिपटे हीरे में हमारी आँखें केवल हीरे की कीमत आँकती हैं, धूल की नहीं। धूल के प्रति सम्मान की भावना के कारण ही हम देश ही मिट्टी, के प्रति न्याय कर पाएँगे, – प्रस्तुत कथन के आलोक में अपने विचार व्यक्त कीजिए। 5

11 .निम्नलिखित गदयांश को पढ़कर दिए गए प्रश्नों के उत्तर लिखिए :                                      (1+2+2)
एवरेस्ट अभियान दल 7 मार्च को दिल्ली से काठमांडू के लिए हवाई जहाज से चल दिया। एक मज़बूत अग्रिमदल बहुत पहले ही चला गया था, जिससे कि वह हमारे बेस कैंप पहुँचने से पहले दुर्गम हिमपात के रास्ते को साफ कर सके। नमचे बाजार, शेरपालैण्ड का एक सर्वाधिक महत्वपूर्ण नगरीय क्षेत्र है। अधिकांश शेरपा इसी स्थान तथा यहीं के आस-पास गाँवों के होते हैं। यह नमचे बाजार ही था जहां से मैंने सर्वप्रथम एवरेस्ट को निहारा, जो नेपालियों में सागरमाथा के नाम से प्रसिद्ध है। मुझे यह नाम अच्छा लगा।
() रास्ता दुर्गम क्यों था ?
() एवरेस्ट अभियान दल कब और कहां के लिए चला?
() नमचे बाजार के विषय में लिखिए।
12.  पठित कविताओं के आधार पर निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर लिखिए।                                (1+2+2)
(i)  रैदास की भक्ति किस भाव की है?
(ii) आदमीनामा कविता में कवि ने आदमी के स्वभाव की किस विचित्रता को दर्शाया है?
(iii)   कवि ने ईश्वर को गरीब  निवाजू क्यों कहा है?
13. 'रहीम के दोहे' पाठ से संकलित किस दोहे को आप अपना आदर्श बनाना चाहेंगे और क्यों?                             5
14.  'गिल्लू' की लेखिका में  ‘सेवा भावना तथासूक्ष्म अवलोकन क्षमता दोनों हैं। सोदाहरण टिप्पणी कीजिए।  5
खण्ड (लेखन)
15. दिए गए  संकेत बिंदुओं के आधार पर किसी एक विषय पर लगभग 80 से 100 शब्दों में अनुच्छेद लिखिए।                                                                                                                                               5
प्राकृतिक संसाधनों का दोहन
() पृथ्वी और प्रकृति से इंसान का संबंध
() प्राकृतिक संसाधनों का अधिक प्रयोग
() संतुलन में गड़बड़ और चेतावनी
अथवा
मेरा प्रिय लेखक
() परिचय
() साहित्यिक योगदान
() प्रिय होने का कारण
अथवा
अहिंसा परमो धर्म:
O  अहिंसा से अभिप्राय
O कुछ ऐतिहासिक उदाहरण
O  अहिंसा से पूर्ण आचरण का महत्व

16. समाचार पत्र में छपे समाचार पर अपने विचार रखते हुए अपने मित्र को पत्र लिखिए।                                    5
17. दिए गए चित्र को ध्यान से देखकर मन में उभरे विचारों को अपनी भाषा में लगभग 20-30 शब्दों में प्रस्तुत कीजिए। विचारों का वर्णन स्पष्ट रूप में चित्र से ही सम्बद्ध होना चाहिए।                                      5


  

18.  ‘त्योहारों का महत्वविषय पर शिक्षक और छात्र के बीच संवाद को लगभग 50 शब्दों में लिखिए।         5

19. एक कोचिंग संस्थान के प्रचार के लिए 20-25 शब्दों में एक विज्ञापन तैयार कीजिए।                  5


-o0o0o0o

कोई टिप्पणी नहीं: